ड्रोन हमला: US ने कहा- हमारे पास है पर्याप्त सबूत

ड्रोन हमला: US ने कहा- हमारे पास है पर्याप्त सबूत

वाशिंगटन
परमाणु समझौता टूटने से बिगड़े अमरीका और ईरान के रिश्ते लगातार खराब होते जा रहे हैं। हालात ऐसे बन गए हैं कि दोनों देशों के बीच सुलह की कोई गुंजाइश नजर नहीं आ रही है। इसी बीच बीते हफ्ते अमरीका की ओर से दावा किया गया था कि उन्होंने एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया है। ईरान ने इन दावों को सिरे से नकार दिया था। अब अमरीकी अधिकारी ने कहा है कि उनके पास अपनी बात साबित करने के पर्याप्त सबूत हैं। अमरीकी अधिकारी ने कहा, हमारे बेहद स्पष्ट सबूत उपलब्ध हैं। अधिकारी ने कहा, उनका (ईरानी) ड्रोन हमारे जहाज के काफी नजदीक आ गया था। अगर कोई हमारे जहाज के इतने नजदीक आएगा, तो उसे इसी तरह ही उड़ा दिया जाएगा। इस दौरान पेंटागन ने इस बात की पुष्टि नहीं की कि क्या उनके पास मार गिराए ड्रोन की तस्वीरे हैं? अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बताया था कि, ‘अमरीकी युद्धपोत USS बॉक्सर ने स्ट्रेट ऑफ हॉर्मुज में एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया था। ड्रोन अमरीकी जहाज के काफी करीब आ गया था, जिसके चलते ‘रक्षात्मक कार्रवाई’ के तहत ये कदम उठाया गया। ट्रंप के इस दावे के बाद ईरान के विदेश मंत्री मो. जवाद जारिफ ने भी इस बारे में बयान जारी किया। ईरान के शीर्ष राजनयिक ने कहा है कि उन्हें ईरान के ड्रोन के नुकसान के बारे में उन्हें ‘कोई जानकारी नहीं’ है। ईरान के उप विदेश मंत्री अब्बास अर्घाची ने कहा था कि, स्ट्रेट ऑफ हॉर्मुज या कहीं भी ईरान का कोई भी ड्रोन लापता नहीं हुआ है। हमें चिंता है कि कहीं अमरीका के युद्धपोत ने अपने ही किसी ड्रोन को तो मार कर नहीं गिराया। बीते साल मई में ट्रंप ने 2015 के परमाणु समझौते से खुद को अलग कर दिया था। इसके बाद ईरान द्वारा परमाणु हथियार निर्माण का हवाला देते हुए, ट्रंप ने ईरान पर प्रतिबंध लगाने का सिलसिला शुरू किया। इसके बाद से ही जारी इस तरह की सिलसिलेवार घटनाओं से यह तनाव बढ़ता जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.