उत्तराखंड: आफत की बारिश, पांच जिलों में तेज बारिश के आसार

उत्तराखंड: आफत की बारिश, पांच जिलों में तेज बारिश के आसार

देहरादून
उत्तराखंड में बारिश लगातार आफत बनकर बरस रही है। चमोली में रातभर से जारी बारिश से बदरीनाथ हाइवे पीपलकोटी, अगथला और लामबगड में बंद हो गया। यात्री हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे हैं। रुद्रप्रयाग जिले में रातभर हुई बारिश से गौरीकुंड हाइवे बांसवाडा में अवरुद्ध है। मौसम विभाग के मुताबिक पांच जिलों में तेज बारिश हो सकती है। उत्तराखंड में लगातार बारिश का दौर जारी है, जिससे आमजन के सामने तमाम दुश्वारियां खड़ी हो गई हैं। हालांकि शनिवार को बारिश का छिटपुट दौर चला, लेकिन मुसीबतें कम नहीं हुई। जहां दो दिन पहले बादल फटने से सहमे चमोली और टिहरी जिले के दर्जनों गांवों के लोग सहमे हुए हैं। चमोली जिले के देवाल विकासखंड के फल्दियागांव में मलबे में दफन मां-बेटी का दूसरे दिन भी कुछ पता नहीं चल पाया। रेस्क्यू टीमें खोजबीन में जुटी हैं। टिहरी जिले के थार्ती गांव में आपदा के कहर के बाद सन्नाटा पसरा हुआ है। बारिश के चलते राज्य में गंगा समेत ज्यादातर नदियां खतरे के निशान के आसपास बह रही हैं। बरसाती नालों के उफान पर होने से ग्रामीणों की नींद उड़ी हुई है। देवाल क्षेत्र में वीरवार की रात बादल फटने से व्यापक पैमाने पर क्षति हुई थी। बरसाती नाले के उफान के साथ आए मलबे ने मां-बेटी जिंदा दफन हो गए थे, शुक्रवार सुबह से उनकी खोजबीन चल रही है, अब तक कुछ पता नहीं चल पाया। आपदा प्रबंधन विभाग की टीम अभी प्रभावित क्षेत्र में डटी हुई है। फल्दियागांव के आपदा प्रभावित 12 परिवारों के 45 लोगों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन में ठहराया गया है। पहले इन्हें जूनियर हाईस्कूल में ठहराया गया था। शिक्षण कार्य प्रभावित न हो, इसलिए उन्हें अन्यत्र शिफ्ट किया गया है। उनके खाने की व्यवस्था भी वहीं पर की गई है। जिला प्रशासन ने आपदा प्रभावितों को त्वरित राहत के रूप में 3800 रुपये दिए।

Admin

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.