वंदे भारत एक्सप्रैस का ठहराव पठानकोट स्टेशन पर न कर मंत्रालय ने लोगों की उम्मीदों पर फेरा पानी

वंदे भारत एक्सप्रैस का ठहराव पठानकोट स्टेशन पर न कर मंत्रालय ने लोगों की उम्मीदों पर फेरा पानी

पठानकोट

जम्मू-कश्मीर व हिमाचल प्रदेश के साथ संलग्न जिला पठानकोट राज्य ही नहीं बल्कि देश-विदेश में भी अपनी एक अलग पहचान रखता है, जिसके चलते देश-विदेश से सैलानी हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर की हसीन वादियों का लुत्फ उठाने हेतु रेलगाड़ियों के माध्यम से जिला पठानकोट पहुंचते हैं, जहां से वे चौपहिया वाहनों में सवार होकर अपने गंतव्य की ओर निकलते हैं।

इतना ही नहीं हिमाचल प्रदेश व जम्मू-कश्मीर में कई प्रख्यात धार्मिक स्थल होने के कारण नवरात्रों व अन्य त्यौहारों पर भी जिला पठानकोट में श्रद्धालुओं की अधिक भीड़ रहती है, लेकिन हैरानी की बात यह है कि रेल मंत्रालय द्वारा जम्मू-कश्मीर व हिमाचल प्रदेश के साथ संलग्न जिला पठानकोट के कैंट रेलवे स्टेशन व सिटी रेलवे स्टेशन को हर बार अनदेखा किया जाता रहा, जिसके चलते स्थानीय नागरिकों के साथ-साथ विभिन्न राज्यों से प्रस्थान व आगमन करने वाले लोगों में भी रेल मंत्रालय के प्रति काफी रोष पाया जाता है।

जिसकी मौजूदा ताजा उदाहरण रेल मंत्रालय व केन्द्र सरकार द्वारा माता वैष्णो देवी के पवित्र धाम पर जाने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु उन्हें नवरात्रों का गिफ्ट देते हुए नई दिल्ली से शुरू की गई सैमी हाई स्पीड वंदे भारत एक्सप्रैस रेलगाड़ी का ठहराव पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन पर न किए जाने से देखने को मिलती है।

गौर रहे कि जब रेल मंत्रालय ने पहली बार नई दिल्ली-कटरा रेल खंड पर स्पीड को जांचने हेतु सर्वप्रथम वंदे भारत एक्सप्रैस रेलगाड़ी का सफल ट्रायल लिया गया उस दौरान स्थानीय निवासियों एवं देश-विदेशों से आने वाले सैलानियों में एक उम्मीद की किरण जगी थी कि उक्त सैमी हाई स्पीड वंदे भारत एक्सप्रैस का ठहराव पठानकोट कैंट पर होने से अब वह आसानी के साथ बहुत ही कम समय में नई दिल्ली व कटरा पहुंच जाएंगे।

लेकिन जब दूसरी बार 4 अक्तूबर को रेल मंत्रालय के आला अधिकारियों ने वंदे भारत एक्सपै्रस में सवार होकर नई दिल्ली-कटरा रेल खंड पर स्पीड जांचने हेतु ट्रायल लिया और इस ट्रायल में उक्त गाड़ी पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन पर नहीं रुकी और उच्चाधिकारियों ने जब साफ कर दिया कि रेलगाड़ी पठानकोट कैंट स्टेशन पर नहीं रुकेगी तो उसके बाद स्थानीय नागरिकों, व्यापारियों एवं विभिन्न राज्यों से आने एवं जाने वाले सैलानियों में रेल मंत्रालय के प्रति भारी नाराजगी पाई गई।

स्थानीय एवं दूरदराज से आने वाले लोगों एवं व्यापारियों ने रेल मंत्रालय से मांग करते हुए कहा कि वह इन महत्वपूर्ण स्टेशनों को अनदेखा न करें तथा यात्रियों की सुविधा हेतु शुरू की गई सैमी हाई स्पीड वंदे भारत एक्सप्रैस रेलगाड़ी का ठहराव पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन पर करना सुनिश्चित करें ताकि यात्री इसमें सफर करके आनंद उठा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Right Click Disabled!